हमारे समाज में महिलाओं से दुर्व्यवहार और अत्याचार की खबरे आम बात हैं। ऐसी ही एक दहेज से संबंधित दुर्व्यवहार की घटना चंडीगढ़ से सामने आई हैं, जिसमें पीड़ित महिला एक साल से अधिक समय से न्याय की लड़ाई लड़ रही है।

द ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह सब तब शुरू हुआ जब महिला की कैब चालक गुरुविंदर सिंह से मुलाकात हुई। दोस्ती का झासा देकर, महिला के विश्वास को हासिल करने में जब वह कामयाब हो गया तब उसने महिला को ड्रिंक में ड्रग मिलाकर दिया। नशे के अवस्था में उसने महिला के साथ अश्लील हरकत की और इसका विडियो भी बनाया।

इसके बाद महिला ने बहादुरी से इस मामले पर अपनी आवाज़ उठाई। पर जब उन्होंने पुलिस को इस घटना की सूचना दी, तो उन्होंने उन्हें गुरुविंदर से शादी करने के लिए कहा। पुलिस ने कहा कि यदि एमएमएस वायरल हो गया, तो उसकी प्रतिष्ठा पर सवाल खड़े किए जाएंगे।

सिर्फ यहीं नहीं, शादी के बाद आरोपी और उसके पिता ने दहेज के लिए महिला को परेशान करना शुरू कर दिया। जबकी पीड़ित की मां ने शादी के दौरान पहले से ही अपने ससुराल वालों को 4.5 लाख रुपये और आरोपी विदेश यात्रा करने के लिए अतिरिक्त 2.5 लाख रुपये दिए थेे।

इसके बाद भी आरोपी का परिवार संतुष्ट नहीं था और पीड़िता की यातना करता रहा। और फिर, एक दिन उसने महिला को जला दिया।
महिला का शरीर पर लगभग 50% जल चुका था। जिसका इलाज आज भी जारी है।

और यह इसका अंत यहीं नहीं होता। जब महिला ने इस भयानक दुर्व्यवहार के लिए अभियुक्त और उसके पिता के खिलाफ मुकदमा दायर किया है, तो आरोपी ने कथित तौर पर उसे रोकना शुरू कर दिया था और महिला को मारने की धमकी देने लगा। एक दिन जब महिला सड़क पर चल रही थी तो आरोपी ने महिला के पहले से ही आधे जले शरीर पर पेट्रोल फेंक दिया था।

इन सबके बावजूद, महिला का दावा है कि उसके मामले की पूरी तरह से जांच करने के बजाय, पंचकुला पुलिस उसे शिकायत वापस लेने का दबाव डाल रही है। वहीं पुलिस ने इस दावे को खारिज करते हुए कहा है कि वह सिर्फ प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं और दोषी पाए जाने पर पति के खिलाफ मामला दर्ज करेंगे।

Facebook Comments