गायत्री जोशी, एक मॉडल से बनी बॉलीवुड अभिनेत्री हैं। गायत्री ने 1996 में मॉडल के रूप में अपनी करियर की शुरुआत की और 1999 में फेमिना मिस इंडिया प्रतियोगिता में शीर्ष 5 फाइनलिस्ट में से एक बन गईं। गायत्री ने बॉलीवुड में अपने कदम शाहरुख खान के विपरीत “स्वदेश” फिल्म के साथ रखी। हालांकि, ‘स्वदेश’ गायत्री की एकमात्र बॉलीवुड फिल्म है। इस फिल्म ने गायत्री को रातों-रात शोहरत दिलाई।

लेकिन शादी करने के बाद यह अभिनेत्री बॉलीवुड की चकाचौंध से दूर चली गयी। इस बात को 12 साल हो गए है और अब अभिनेत्री अपने पति विकास ओबेरॉय के साथ खुशहाल ज़िन्दगी बिताती हैं। विकास ओबेरॉय एक व्यापारिक टाइकून है। “ओबेरॉय रियल्टी” के मालिक, यह भारत के सबसे अमीर परिवारों में से एक हैंं।

विकास-गायत्री की शादी काफी गुप्त तरीके से हुई थी। गायत्री ने 2005 में लास वेगास में एक बहुत ही निजी समारोह में विकास से विवाह किया था। गायत्री-विकास के दो बेटे हैं। एक का जन्म 2006 में हुआ था वहीं दूसरे बेटे का जन्म 2010 में हुआ था।

विकास का नेट वर्थ उनके रियल एस्टेट कारोबार के बदौलत 10,000 करोड़ हैं। गायत्री ने शादी के बाद कभी अपने निजी जीवन और विवाहित जीवन के बारे में बात नही की हैं। वहीं विकास अपने निजी जीवन के बारे में कई बार विभिन्न वित्तीय पत्रिकाओं में बात की है।

उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, “मैं शादी करने से पहले लंबे समय से गायत्री को जानता था हम सिर्फ दोस्त थे, परिचितों की तरह। किस्मत से, हम एक-दूसरे से टकराते रहे और मुझे लगा कि वह गायत्री ही हैं जिसके साथ मैं बाकी जीवन बिताना चाहता हूँ। ”

गायत्री को अपने बॉलीवुड दोस्तों जैसे ट्विंकल खन्ना और सुजैन खान के साथ मिलते-जुलते कई बार देखा गया है। यह आश्चर्य की बात है कि गायत्री खुद इन सब से दूर, पीछे हटकर, अपने पति को उनके तरफ से बात करने देती है। इसी के साथ, गायत्री का इंस्टाग्राम और ट्विटर अकाउंट भी निजी हैं। वहीं गायत्री के पति अपने खुशी के पलों को अक्सर साझा करते रहते है।

एक यात्रा पत्रिका को दिए एक इंटरव्यू में, विकास ने कहा, “गायत्री और मैं घुमने-फिरने के लिए जुनून साझा करते हैं। एक अच्छी छुट्टी के लिए हमारी पूर्व-आवश्यकताएं बहुत अच्छी भोजन, अद्भुत मौसम और कई आउटडोर एक्टिविटीज हैं। हम अपने गरमी की छुट्टीयां यूरोप में या थाईलैंड में समुद्र तट पर बिताते हैं। जब यह बात हमारे पसंदीदा छुट्टियों के स्थानों पर आती है, तो हमारे अलग-अलग चॉइसेस हैं गायत्री को कैपरी उसके पुराने विश्व आकर्षण के लिए पसंद हैं, जबकि मेरे लिए मालदीव भागदौड़ से दूर आराम करने के एक आदर्श स्थान है। हम दोनों नए स्थानों की खोज करने के लिए उत्साहित रहते हैं, हम हमेशा कई अद्भुत यादों के साथ घर आते हैं। “

Facebook Comments