उमामाहेश्वरा शर्मा तीन दशकों से अधिक समय तक पुलिस के तौर पर देश की सेवा कर चुके हैं जबकि उनकी बेटी चार साल पहले फोर्स में शामिल हुई थी, लेकिन रविवार को जब वे आमने-सामने आए, तो उमामहेश्वरा ने अपनी बेटी को सलाम किया। पुलिस उपायुक्त ए आर उमामाहेश्वरा शर्मा को अपने वरिष्ठ अधिकारी सिंधु शर्मा को सलाम करने पर गर्व महसूस होता है। उमामाहेश्वरा की बेटी, सिंधु शर्मा तेलंगाना के जगतियाल जिले के पुलिस सुपरिन्टेन्डेन्ट हैं।

रविवार को हैदराबाद के कोंगारा कलान में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की सार्वजनिक बैठक में अपने ड्यूटी करते हुए पिता-बेटी जोड़ी का आमना-सामना हुआ।
“यह पहली बार है जब हम अपने ड्यूटी के दौरान एक साथ आमने-सामने आए हैं। मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे अपनी बेटी के साथ काम करने का मौका मिला” उमामाहेश्वर शर्मा ने कहा। सब-इंस्पेक्टर के रूप में अपना करियर शुरू करने वाले उमामाहेश्वरा को हाल ही में आईपीएस रैंक से सम्मानित किया गया था।

अगले वर्ष सेवानिवृत्त होने वाले शर्मा, वर्तमान में हैदराबाद में राचाकोंडा पुलिस आयुक्त के तहत मलकाजगिरी इलाके में डीसीपी के रूप में कार्यरत हैं, जबकि उनकी बेटी सिंधु शर्मा 2014 बैच की एक आईपीएस (इंडियन पुलिस सर्विस) अधिकारी हैं।

“वह मेरी सीनियर अधिकारी हैं। जब मैं उसे देखता हूं, तो मैं उसे सलाम करता हूं। हम अपने संबंधित कर्तव्यों को करते हैं और इस पर चर्चा नहीं करते हैं, लेकिन घर पर हम किसी भी पिता और बेटी की तरह ही हैं, ” पिता ने गर्व से बताया।
सिंधु, जो सार्वजनिक बैठक में महिलाओं की सुरक्षा की देखभाल कर रही थी, ने कहा, “मैं बहुत खुश हूं। यह हमारे एक साथ काम करने के लिए बहुत ही अच्छा अवसर था। “

Facebook Comments